Hindi Islam
Hindi Islam
×

Type to start your search

बच्चों के लिए

Found 6 Posts

बेगर्ज़ मोहबत
बेगर्ज़ मोहबत
24 January 2022
Views: 191

पहले मकान कच्चे हुआ करते थे मगर उन में रहने वाले सच्चे हुआ करते थे आज मकान पक्के हैं मगर उन में रहने वालों के दिल कच्चे हैं उन में अपनापन प्यार की कमी सी है |

और मोती बोल उठा
और मोती बोल उठा
24 January 2022
Views: 211

आज बरसों बाद सूनी पड़ी हवेली में नदीम के आ जाने से चहल-पहल हुई थी । हवेली का कोना–कोना गूंज उठा था, उधर बगीचे में परिंदों ने एक अलग ही समा बांध रखा था, वो सब आपस में कह रहे थे अपना नन्हा दोस्त नदीम शहर से वापस लौट आया | अब बागीचे की दुगनी रौनक हो जाएगी। तभी मैना ने कहा, सुनो पर उस का दिल कैसे लगेगा यहाँ हवेली में सिर्फ़ उस की माँ ही रह गई हैं।

मां केवल प्रेम लिखती है
मां केवल प्रेम लिखती है
06 January 2022
Views: 202

यह कहानी एक ऐसे शहर की है जिस की प्राकृतिक छटा देखते ही बनती है इस शहर का सौंदर्य अत्यंत प्रशंसनीय है इसी शहर का रहने वाला है आकाश जी हां बड़ा भोला सा व्यक्ति मगर समय की धारा और जटिल परिस्थितियों के चलते उसकी शिक्षा अधूरी रह गई थी इसी के साथ दूसरी वजह यह भी रही अकस्मात उसके पिता के निधन ने उसके देखे सारे स्वप्न धूमिल से कर दिए थे।

वह क्यों लौटा
वह क्यों लौटा
06 January 2022
Views: 210

रात का तीसरा पहर था मगर साहिल चाह कर भी सो नहीं पा रहा था बस बिस्तर पर करवटें बदलते हुए रह रहकर यही सोच रहा था क्या मैं भटक गया हूं? क्या मैं बदल गया हूं? आखिर मेरे अंदर यह परिवर्तन क्यों आया? किसने बदला मुझको? क्या स्कूल ने? क्या संगति ने? या उन दोस्तों ने जो खुद अंधकार में भटक रहे हैं? किसने? आखिर किसने? परंतु अब वापसी कैसे हो? मैं तो जीवन की धारा में खोकर इतना दूर निकल चुका हूं अब वापस कैसे लौटूं?

रहम दिल अमीन
रहम दिल अमीन
06 January 2022
Views: 183

किसी गाँव मे एक लड़का रहता था । जिस का नाम अमीन था । एक दिन अमीन का दिल हुआ के क्यूँ न नदी के किनारे घूमने चला जाए बस यही सोच कर वो नदी किनारे पहुंचा अचानक उस की निगाह नदी किनारे रेत पर पड़ी उस ने देखा के रेत पर पड़ी एक नन्ही मछली रो रही है |

वो क्यूँ रोई
वो क्यूँ रोई
06 January 2022
Views: 199

किसी बगीचे में रंग -बिरंगे फूलों के बहुत फूलों दरख्त थे उन में लाल और सफ़ेद गुलाब के पौधे भी थे लाल गुलाब का नाम मुन्नू था और सफ़ेद गुलाब का नाम चुन्नू था ,जानते हैं उनकी दोस्ती पूरे बगीचे में मशहूर थी | वहीं बगीचे के कोने में बरगद का एक बहुत बड़ा पेड़ था उस पर एक कोयल रहती थी उस के नीचे वाली डाली पर चिडिया रहती थी