بسم الله الذي لا يضر مع اسمه شيء في الأرض ولا في السماء وهو السميع العليم अल्लाह के नाम पर, जिसका नाम पृथ्वी या आसमान में कुछ भी नुकसान नहीं पहुँचाता है, और वह सुनने वाला, जानने वाला है

May 16,2022

मुख पृष्ठ

सत्य धर्म की खोज

सत्य धर्म की खोज

सत्य धर्म की खोज हर इंसान का बुनियादी काम है । मुहम्मद इक़बाल मुल्ला

समलैंगिकता का फ़ितना

समलैंगिकता का फ़ितना

लेखक: डॉक्टर मुहम्मद रज़िउल इस्लाम नदवी

29 Jul 2021
अल्लाह के रसूल  मुहम्मद (सल०) की साथी महिलाएं (सहाबियात)

अल्लाह के रसूल मुहम्मद (सल०) की साथी महिलाएं (सहाबियात)

तालिब हाशिमी साहब की किताब से सहाबियात (रज़ि०) की शख्सियत का हर पहलू रौशन हो जाता है। उनकी बहादुरी, उनके बुलन्द हौसले, उनके ईमान की मज़बूती, उनकी नबी (सल्ल०) से निहायत अक़ीदत व मुहब्बत, जाँनिसारी का जज़्बा जैसी तमाम ख़ासियतें सामने आ जाती हैं। 'तज़कारे सहाबियात' जैसी किताब का फ़ायदा हिन्दी जाननेवालों को मिल सके इसके लिए इसका हिन्दी तर्जमा करने का फ़ैसला लिया गया।

पैग़म्बर मुहम्मद (सल्ल.) का रवैया अपने दुश्मनों के साथ

पैग़म्बर मुहम्मद (सल्ल.) का रवैया अपने दुश्मनों के साथ

श्री नाथू राम

हज़रत मुहम्मद (सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम) : एक संक्षिप्त परिचय

हज़रत मुहम्मद (सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम) : एक संक्षिप्त परिचय

डॉक्टर मुहम्मद अहमद हज़रत मुहम्मद (सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम) बहादुर होने के साथ बहुत ही नरम दिल थे। आप कमज़ोर लोगों के साथ ही बेज़ुबान जानवरों तक के बारे में नरमी का हुक्म फ़रमाते थे। आप (सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम) की जीवन व शिक्षा का सार और उद्देश्य यह है कि इन्सान अपने एकमात्र स्रष्टा और पालनहार के बताये हुए मार्ग पर चलकर ही ज़िन्दगी गुज़ारे ताकि वह इस लोक और परलोक में सफलता प्राप्त कर सके।

प्यारे नबी (सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम) की पाक बीवियाँ (उम्महातुल-मोमिनीन)

प्यारे नबी (सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम) की पाक बीवियाँ (उम्महातुल-मोमिनीन)

जैसा कि हम सब जानते हैं कि पैग़म्बर हज़रत मुहम्मद (सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम) ख़ास तौर पर जहाँ मर्दों के लिए एक बेहतरीन नमूना हैं, वहीं आपकी पाक बीवियाँ भी ख़ास तौर पर औरतों के लिए बेहतरीन नमूना हैं। अल्लाह ने जहाँ आप (सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम को अख़लाक और किरदार के बुलन्द मक़ाम पर पहुँचाया था वहीं आपकी बीवियों को भी अख़्लाक व किरदार का बुलन्दतरीन मक़ाम अता किया था। यही वजह है कि ईमानवाली हर औरत नबी (सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम) की बीवियों के पदचिह्नों पर चलना अपनी सफलता और ख़ुशकिस्मती समझती है।

सभ्यता का पाखंड

सभ्यता का पाखंड

कौन सभ्य है और कौन असभ्य, यह जानने के लिए दुनिया में दो तरह के पैमाने रहे हैं। इनमें से पहला और सही पैमाना मूल्य आधारित है।

30 Jul 2020
क़ुरआन: आसान हिंदी तर्जुमा- शब्द दर शब्द

क़ुरआन: आसान हिंदी तर्जुमा- शब्द दर शब्द

हाफ़िज़ नज़र अहमद

कोरोना काल का चिंतन

कोरोना काल का चिंतन

कोरोना महामारी ने विश्व में एक क़हर बरपा कर रखा है। 200 से ऊपर देशों में इसका प्रभाव हुआ मगर कई बड़े देश और वहां के रहने वाले इसके ख़ास शिकार हुए हैं।

26 Jul 2020
पशु-बलि: दुनिया की सबसे पुरानी और सबसे सार्वभौमिक परम्पराओं में से एक

पशु-बलि: दुनिया की सबसे पुरानी और सबसे सार्वभौमिक परम्पराओं में से एक

डॉ. अब्दुल रशीद अगवान

12 Jul 2020