بسم الله الذي لا يضر مع اسمه شيء في الأرض ولا في السماء وهو السميع العليم अल्लाह के नाम पर, जिसका नाम पृथ्वी या आसमान में कुछ भी नुकसान नहीं पहुँचाता है, और वह सुनने वाला, जानने वाला है

January 22,2022

मुहम्मद (स॰)

जायसी के दोहे और इस्लाम के अन्तिम पैगंबर मुहम्मद (सल्ल०)

जायसी के दोहे और इस्लाम के अन्तिम पैगंबर मुहम्मद (सल्ल०)

सोरठा : साईं केरा नाँव, हिया पूर, काया भरी । मुहम्मद रहा न ठाँव, दूसर कोइ न समाइ अब ॥ अर्थ :- साईं (मुहम्मद (सल्ल०)) के नाम से तन एवं हृदय पूर्ण रूप से भर चुका है, मुहम्मद (सल्ल०) के बिना चैन नहीं है, अब हृदय में दूसरा कोई समा भी नहीं सकता ।

हज़रत मुहम्मद (सल्ल.): एक महान समाज-सुधारक

हज़रत मुहम्मद (सल्ल.): एक महान समाज-सुधारक

“और जब उनसे कहा जाता है कि अल्लाह ने जो उतारा है उसका अनुसरण करो, तो कहते हैं कि हमने अपने बाप-दादा को जिस तरीक़े पर पाया है, वही हमारे लिए काफ़ी है। क्या उनके बाप-दादा न कुछ जानते हों और न सीधे रास्ते पर हों तब भी वे उन्हीं का अनुसरण करेंगे?” (क़ुरआन - 2:170)

हज़रत मुहम्मद (स०): जीवन और सन्देश

हज़रत मुहम्मद (स०): जीवन और सन्देश

"नाप-तौल में कमी न करो, नाप कर दो तो पूरा-पूरा दो, वज़्न करो तो तराज़ू ठीक रखो (मामलों में) यह तरीक़ा उत्तम और परिणाम की दृष्टि से बहुत अच्छा है। जिस बात का तुम्हें ज्ञान नहीं है उसके पीछे न पड़ो, याद रखो कान, नाक, आंख, दिल हर एक के बारे में अल्लाह के यहाँ पूछा जाएगा। धरती में इतरा कर न चलो, तुम न धरती को फाड़ सकते हो, और न पहाड़ की ऊँचाई को पहुँच सकते हो। ये बातें अल्लाह की दृष्टि में अप्रिय हैं।” (क़ुरआन, 17:35-38)

पैग़म्बर मुहम्मद (सल्ल.) का रवैया अपने दुश्मनों के साथ

पैग़म्बर मुहम्मद (सल्ल.) का रवैया अपने दुश्मनों के साथ

श्री नाथू राम

प्यारे नबी (सल्ल.) कैसे थे?

प्यारे नबी (सल्ल.) कैसे थे?

इरफ़ान ख़लीली

हज़रत मुहम्मद (सल्ल०) एक संक्षिप्त परिचय

हज़रत मुहम्मद (सल्ल०) एक संक्षिप्त परिचय

डॉक्टर मुहम्मद अहमद

हज़रत मुहम्मद (सल्ल.) सब के लिए

हज़रत मुहम्मद (सल्ल.) सब के लिए

रफ़ीउद्दीन फ़ारूक़ी

आखरी पैगम्बर

आखरी पैगम्बर

पुस्तिका सैयद मुहम्मद इकबाल

हज़रत मुहम्मद सल्लO का संदेश

हज़रत मुहम्मद सल्लO का संदेश

पुस्तिका: हज़रत मुहम्मद सल्लO का संदेश लेखक: मौलाना सैयद अबुल आला मौदूदी

मानवता उपकारक हज़रत मुहम्मद (सल्ल॰ अलैहि वसल्लम)

मानवता उपकारक हज़रत मुहम्मद (सल्ल॰ अलैहि वसल्लम)

पुस्तिका: मानवता उपकारक हज़रत मुहम्मद (सल्ल॰ अलैहि वसल्लम) लेखक- अबू मुहम्मद इमामुद्दीन रामनगरी प्रकाशक :-मधुर सन्देश संगम